कभी हार मत मानो Never Give Up

Life lesson कभी हार मत मानना
Advertisement

एक दिन एक आदमी ने जीवन की कठिनाइयों से तंग आकर सब कुछ छोड़ने का फैसला किया। वह अपना जीवन त्याग देना चाहता था। इसी इच्छा से वह एक घने जंगल में गया तथा आखरी बार भगवान को याद करने लगा।

  • भगवान उसके सामने आ गए। वह गुस्से में भगवान से बोला
  • मैं आपके दिए इस जीवन को लौटाने आया हूँ, इसे स्वीकार करो और मुझे ये जीवन दोबारा कभी नही चाहिए।
  • भगवान आश्चर्य से “परन्तु तुम इस क्यों करना चाहते हो?”
  • इंसान : मुझे कोई एक कारण बताओ जिस से मैं रुक जाऊ और ये जीवन मुझे अच्छा लगने लगे।
  • भगवान: जब मैंने इस जंगल मे घास और बांस के बीज बोए तब, तीसरे दिन ही घास के कोपल फुट आये। लेकिन बांस का कोई अता पता नहीं था।
  • फिर 1 महीने में घास पूरी तरह से ऊपर दिखाई देने लगी और छठे महीने तक बहुत बड़े हिस्से पर फैल गयी थी, लेकिन अब भी बांस के बीज में कुछ नही हो रहा था। किंतु मैन फिर भी उसे छोड़ा नही ओर हर रोज़ उसे पानी देता रहा।
  • धीरे धीरे 1 साल बीत गया था और घास ने पूरे जंगल मे फैलना शुरू कर दिया था, उसकी हरियाली मंत्रमुग्ध करने वाली थी।
  • उसके 2, फिर 3 ओर धीरे धीरे 4 साल निकल गए लेकिन बांस के बीज में कुछ नही हो रहा था, लेकिन मैंने फिर भी उसका त्याग नही किया और उसकी उसी तरीके से देखभाल करता रहा।
  • फिर आखिरकार 5वे साल में बांस से एक छोटी से कोपल जमीन से बाहर निकली जोकि घास की तुलना में नाममात्र भी नही थी। लेकिन सिर्फ 6 महीने बाद ही बांस का पेड़ 100 फिट लम्बा हो गया था।
  • पिछले पांच साल बांस ने सिर्फ अपनी जड़ें मजबूत करने में बिताए थे जो उसको ओर लंबा बढ़ने में मदद कर सकें।
  • इस कोई भी मुसीबत नही है, जिसका सामना इन्सान न कर सके, भगवान ने उत्तर दिया।
  • घास ओर बांस दोनो को ही मैं त्याग नही सकता, क्योंकि दोनों का मकसद अलग अलग है।
  • इन दिनों जब तुम संघर्ष कर रहे थे, तो अपनी जड़ों को मजबूत कर रहे थे। तुम्हारा समय भी जरूर आएगा, जब तुम भी बांस की तरह ऊपर उठोगे।
  • कितना ऊपर उठ सकता हूं? इंसान ने पूछा
  • बांस कितना ऊपर उठ सकता है?, भगवान ने कहा
  • जितना चाहे उतना ऊपर उठ सकता है, इंसान ने कहा।
  • भगवान : हां, अपनी योग्यताओं का पूरा इस्तेमाल करते हुए ऊपर उठो।

और कभी हार मत मानो

मोटिवेशनल विचार Motivational Quotes

मैं कभी हार नही मानता, या तो जीतता हूँ या सीखता हूँ।

नेल्सन मंडेला

जब तक आप छोड़ते नही हो, आओ हारते नही हो

चाहे अब यह कितना भी दुखदायी हो, एक दिन जब आप पीछे मुड़ोगे तो पाओगे की इससे आप मजबूत हुए थे।

प्रायः जब आप छोड़ना चाहते हो, वही पल आपकी सफलता से कुछ पहले का होता है।

जब आपका प्लान काम नही कर रहा है, तो रास्ता बदल दो पर लक्ष्य नही

हार मत मानो,आपकी जीत हमेशा आपके आस पास ही होती है।

असफलता से नही बल्कि हार मान लेने से डरो

मोटिवेशनल शायरी

मुसीबत आ ही गयी है तो,

डरने से क्या होगा।

जीने के रास्ते ढूंढ़ो,

मरने से क्या होगा।

सिरफिरे ही इतिहास रचते हैं,

होशियार तो बस इतिहास पढ़ते हैं।

अभी कांच के हो तो सबको चुभते हो,

आईना बनोगे तो सारा जमाना देखेगा।

जीवन मे बदलाव जरूरी है

महत्वपूर्ण सबक जल्दी सीखो

अपने व्यक्तित्व को जानो

Comments

  1. Ahaa, its fastidious discussion regarding this paragraph at this place at this web site, I have read all that, so now me also commenting at this place.

  2. First off I would like to say excellent blog!
    I had a quick question in which I’d like to ask if you don’t mind.
    I was curious to know how you center yourself and clear your mind before writing.
    I’ve had a hard time clearing my thoughts in getting my thoughts out
    there. I do take pleasure in writing however it just seems like the first 10 to 15 minutes
    tend to be lost simply just trying to figure out how to begin. Any suggestions or hints?
    Appreciate it!

  3. Your style is so unique in comparison to other people I’ve read stuff from.
    Many thanks for posting when you’ve got the opportunity, Guess I’ll just book mark this web site.

Leave a Reply

Your email address will not be published.