5 सबक जो अधिकांश लोग बहुत देर से सीखते हैं

Life lessons – युवावस्था में इन बातों को सीखना चाहिए

1.धारणा वास्तविकता है Perception is Reality
Advertisement

सच्चाई यह है कि ज्यादातर लोग जीवन में और ज्यादा पाना चाहते हैं। भले ही वह Subconscious अवचेतन स्तर पर हो। मनुष्य हमेशा बेचैन रहते हैं। बचपन से लेकर मरने तक, हमारा समाज शिक्षा के महत्व पर जोर देता है। लेकिन शिक्षा में हम सीखते खोजते बहुत कम है।

सोर्स:गूगल

ये कैसे पता करें कि आपको क्या जानना हैं? अपने आप से यह सवाल पूछकर शुरू करें: मुझे क्या नहीं पता? आप और क्या सीखना चाहते हैं?

सबसे महत्वपूर्ण बात, यह समझें कि आपके गलत होने में कोई बुराई नहीं है। गलतियों से ही हम सीखते हैं और आगे बढ़ सकते हैं

2.सब कुछ अस्थायी है Everything is temporary

आपका अच्छा समय अस्थायी है और आपका बुरा समय अस्थायी है। इसलिए जब आप उठें, तो उस दिन का आनंद लें, इसमें बेसक अपना सबसे उत्तम लगाएं और इसके लिए आभारी रहें। और जब आप बुरा महसूस कर रहे हों, तो आपको भी आपको इस बात का ध्यान रखना है कि यह अंत नहीं है, और यह सिर्फ एक मोटा पैच है, जो आपके जीवन में फस गया है। जीवन ट्विस्ट और टर्न, अप्स एंड डाउन्स और सरप्राइज से भरा है।

सोर्स:गूगल

हम भूल जाते हैं कि जीवन एक यात्रा है न कि कोई मंजिल।

हर चीज में एक सीख है। मुझे लगता है कि यह बहुत से लोगों के लिए कठिन है – विशेष रूप से युवा लोगों के लिए – जिंदगी के लिए आभारी होना।

3.मौजूद होने का महत्व The importance of live in present

यदि आप उदास हैं, तो आप अतीत में रह रहे हैं। यदि आप चिंतित हैं, तो आप भविष्य में रह रहे हैं। यदि आप शांति में हैं, तो आप वर्तमान में रह रहे हैं।

लाओ त्सु

हम इस बारे में चिंता करते हैं कि क्या होने वाला है, या उस चीज़ पर ध्यान केंद्रित करते हैं जो पहले से ही हो चुका है। हालांकि भविष्य की योजना बनाना महत्वपूर्ण है, पर सावधान रहें कि यह योजना आपके वर्तमान में बाधा न बन जाये। एक एक पल धीरे धीरे यादों में बदल जाते हैं ओर यादें आपका जीवन बन जाती हैं। जो आपके पास है उस पल का आनंद जरूर लें।

ज्यादा भविष्य की योजना और भूतकाल की यादें आपकी चिंता का कारण बन जाती हैं। जो बहुत नुकसान दायक है।

अतीत में रहना उतना ही नुकसानदायक है। अपने आप को और अपने अतीत को प्रतिबिंबित करने में सक्षम होने में निश्चित रूप से लाभ हैं। इस बात पर ध्यान देना कि आप किस माध्यम से गए हैं और यह कैसे आपके लिए मायने रखता है। यह दुख, प्रक्रिया और काबू पाने के लिए बहुत सारी भावनात्मक ऊर्जा लेता है।

वर्तमान समय में अपना अधिकांश समय व्यतीत करने के लिए, और अपने भविष्य को प्राथमिकता देने में सक्षम होने का संतुलन, मूल्यवान से परे है, यह जीवन को बदलने वाला है।

4. जो पसंद है वही करो या जो करते हो उस से प्यार करो Do what you love, Love what you do

हमारी सफलता बहुत हद तक आपके प्रयास पर निर्भर करती है। जो काम हमे पसंद होता है उसमें हम बहुत मेहनत लगाते हैं और थकान भी कम महसूस करते हैं।

बहुत सारे काम ऐसे होते हैं जिनका नाम सुनते ही हम हताश हो जाते हैं क्योंकि हम शायद वो काम करना नही चाहते हैं। इसके विपरीत जो काम हमे अच्छे लगते हैं उन्हें करते हुए खुशियों का अहसास होता है और ज्यादा बेहतर तरीके से हम वो काम कर पाते है।

मूवी का नाम हर तरह की सिचुएशन में कर सकें बहुत ज्यादा थकावट होने पर जो काम करने में आपको मज़ा आये, वही काम आपको पसंद होता है।

अपने व्यक्तित्व के बारे में ज्यादा जान ने के लिए यह पढें।

सबसे महत्वपूर्ण काम: अपने आप में निवेश करें।

हमें हर दिन कुछ ना कुछ नया सीखते रहना चाहिए क्योंकि हमें अपनी तुलना खुद के पहले दिन वाले स्वरूप से करनी है और जब हम आज के दिन को पिछले वाले रूप से तुलना करें दो हमारा आज का रूप बेहतर होना चाहिए।

5.खुश रहना सिखना पड़ता है Being happy takes work

सबसे ज्यादा खुश लोग वही होते हैं जो खुद के व्यक्तित्व पर सबसे ज्यादा काम करते हैं। हर काम को उनकी योग्यता के हिसाब से करना वह छोड़ना भी खुश रहने का एक कारण हो सकता है। कुछ काम ऐसे होते हैं जो जरूरी लगते हैं लेकिन वास्तव में वह सिर्फ एक भोज के अलावा कुछ नहीं होते। इसलिए यह बहुत जरूरी है कि हम बड़ी बुद्धिमानी से अपने लिए काम चुने और अपनी योग्यता के अनुसार उनको करें।

कामों को सही ढंग से चुनने के बारे में जानकारी के लिए यह पढें।

आपका जीवन विकास और व्यक्तिगत विकास की एक श्रृंखला है।

आत्म-विकास के लिए सबसे खराब चीजों में से एक अपने आप की तुलना अन्य लोगों से करना है। ईर्ष्या में फंसना आसान है। खासकर जिस तरह से हम सोशल मीडिया पर सहभागिता देखते हैं, तो हमारी ईर्ष्या करने की प्रवर्ती बढ़ जाती है। आपको यह याद रखना होगा कि लोग उन प्लेटफार्मों पर अपने जीवन के सबसे अच्छे हिस्सों को ही दिखाते हैं वो भी बहुत सारे एडिट करके। उन सबको देखकर अपने आप को कोसना मूर्खता की पहचान माना जायेगा। सब इंसान एक दूसरे से अलग होते हैं और सब कोई स्पेशल काम करने के लिए बने होते हैं।

चाहे आप अपने अहंकार को छोड़ना सीख रहे हों, या अधिक पसन्द आने वाले काम करना … यह अभ्यास से होता है। आपके पास केवल एक ही जीवन है, जितना हो सके अपने आप के सर्वश्रेष्ठ व्यक्तित्व को जीने की कोशिश करें, ताकि अंत मे आपको कोई पछतावा ना रहे।

Comments

  1. Greate article. Keep posting such kind of info on your page.

    Im really impressed by your blog.
    Hey there, You have performed an excellent job.
    I’ll certainly digg it and for my part suggest to my friends.
    I am confident they’ll be benefited from this web site.

  2. Great beat ! I would like to apprentice while you amend your site, how could i subscribe for a blog web site?
    The account helped me a acceptable deal. I had
    been a little bit acquainted of this your broadcast provided bright clear concept

Leave a Reply

Your email address will not be published.