अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस International Yoga Day

International Day Of Yoga 2021 का सारांश

  • यह दिन 21 जून 2021 को पूरी दुनिया में मनाया जाएगा
  • 2021 की थीम या विषय Yoga For Well Being है।
  • कोरोना वायरस के इस दौर में योग एक महत्वपूर्ण पक्ष के रूप में उभरा है।
  • Advertisement

Important days – योग दिवस का इतिहास (Yoga Day History)

2014 में संयुक्त राष्ट्र संघ की असेंबली द्वारा पारित होने के बाद से अंतरराष्ट्रीय योग दिवस हर साल 21 जून को मनाया जाता है। 21 जून का दिन नॉर्दर्न हेमिस्फीयर में सबसे बड़ा तथा दक्षिणी गोलार्ध में सबसे छोटा होता है इसलिए इस दिन का महत्व हमारे वातावरण के हिसाब सेे भी बहुत ज्यादा है। भारत द्वारा 21 जून के दिन को संयुक्तत राष्ट्र संघ मे चुनने का यही मुख्य कारण था।

भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने ही सबसे पहले अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की सिफारिश की थी। उनके द्वारा 27 सितंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र संघ की जनरल असेंबली में दिए गए भाषण के कुछ मुख्य अंश इस प्रकार हैं:

योग भारत की पुरानी संस्कृति का एक अनमोल उपहार है। यह मन और शरीर, सोच और कर्म तथा संयम और पूर्णता का एक अद्भुत संगम है। योग हमारे शरीर के स्वास्थ्य के लिए एक समग्र तथा वैज्ञानिक रास्ता है। यह केवल शारीरिक व्यायाम ही नहीं अपितु अपने आप को, प्रकृति को तथा संपूर्ण विश्व को ढूंढने का एक साधन है। अपने अवचेतन मन को नियंत्रण में करके हम योग के द्वारा संपूर्ण विश्व तथा अपने स्वास्थ्य को बेहतर बना सकते हैं।

श्री नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री भारत, 27 सितंबर 2014

जब भारत के स्थाई प्रतिनिधि अशोक मुखर्जी ने 2014 में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का ड्राफ्ट संयुक्त राष्ट्र संघ की असेंबली में प्रस्तुत किया तो दुनिया के लगभग 177 देशों ने इस बिल का समर्थन किया था। यह संख्या अपने आप में आज तक इस तरह के किसी भी बिल के लिए समर्थन का रिकॉर्ड है।

योग क्या है? (What is Yoga)

योग एक पुरातन अध्यात्मिक, मानसिक और शारीरिक प्रक्रिया है जिसका उद्भव भारत में हुआ था। योग संस्कृत भाषा का एक शब्द है, जिसका मतलब है; जोड़ना। योग में केवल शारीरिक व्यायाम ही नहीं बल्कि अध्यात्म और मन का मिलन भी शामिल होता है। जब हमारा तन और मन एक साथ काम करते हैं तो हमारा स्वास्थ्य तथा काम करने की क्षमता अद्भुत तरीके से बढ़ जाती है तथा हमारी सोच और हमारे कर्म एक ही दिशा में काम करते हैं। भारत के पुरातन ग्रंथों में शिव जी को योग का आदि गुरु माना गया है। जिस योग की कल्पना हम आज के समय कर रहे हैं; वह शिवजी की इस दुनिया को देन है।

योग के घटक

समय बदलने के साथ साथ पूरी दुनिया में योग के अलग-अलग प्रारूप फैल चुके हैं; जो मुख्य रूप से सिर्फ शारीरिक स्वास्थ्य पर ही केंद्रित हैं, जबकि योग का मुख्य लक्ष्य मन और तन दोनों का मिलन कराना है। जब तक योग में अध्यात्मिक अध्याय नहीं जुड़ेगा; तब तक कोई प्रभावी परिवर्तन इस दुनिया में नहीं लाया जा सकता। इसलिए यह बहुत जरूरी है की योग को सिर्फ एक व्यायाम की तरह ने देखा जाए अपितु इसकी संपूर्ण परिभाषा को समझ कर ही अपने जीवन में लागू किया जाए। योग के मुख्य रूप से 3 घटक होते हैं जो इस प्रकार हैं:

  1. योगासन : यह मुख्य रूप से शारीरिक शक्ति और शरीर के विभिन्न अंगों को बीमारियों से बचाने के लिए होता है। इसमें अलग-अलग प्रकार के आसनों को सम्मिलित किया गया है। यह आसन भी अलग-अलग विभागों में विभाजित होते हैं और शारीरिक योग्यता और उम्र के हिसाब से इनका चयन किया जाता है। इसलिए किसी भी आसन को शुरू करने से पहले उसकी सावधानियों तथा तैयारियों के बारे में संपूर्ण जानकारी लेनी चाहिए। बच्चों के लिए आसन, बड़ी उम्र के लोगों के लिए आसन, बीमारी के हिसाब से आसन केे लिए लिंक।
योगासन, सोर्स:गूगल

2. प्राणायाम : इस विधि का मुख्य कार्य शरीर की नाड़ियों तथा कोशिकाओं की शुद्धि करना होता है। प्राणायाम के भी बीमारी, उम्र तथा शारीरिक योग्यता के हिसाब से अलग-अलग प्रकार होते हैं। इसके बारे में जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

3. मेडिटेशन या ध्यान : ध्यान का प्रमुख उद्देश्य मन तथा शरीर को मिलाना है। जब भी हमारी यह दोनों शक्तियां एकाग्र चित्त होकर कार्य करती हैं तो हमारे अंदर चल रहा द्वंद्व समाप्त होकर हमारी कार्य करने की क्षमता कई गुना बढ़ जाती है। ध्यान करने के लिए कुछ ज्यादा सावधानियां और मेहनत की जरूरत नहीं होती है। किसी भी उम्र और शारीरिक योग्यता का इंसान ध्यान कर सकता है, लेकिन ध्यान की उच्चतम अवस्था जैसे समाधि प्राप्त करने के लिए एक गुरु का साथ जरूरी होता है।

7 ऊर्जा चक्रों सहित मेडिटेशन, सोर्स:गूगल

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2021 का विषय (Yoga Day Theme)

सयुंक्त राष्ट्र संघ ने सन 2021 में योग दिवस के लिए जो विषय चयनित किया है वह है:
Yoga For Well Being या स्वस्थ जीवन के लिए योग है।

योग दिवस क्यों मनाया जाता है?

संयुक्त राष्ट्र संघ ने विश्व में NCD (Non Communicable Diseases) असंक्रमित बीमारियां जैसे कैंसर, हृदयाघात तथा डायबिटीज आदि को रोकने के लिए 2018-2030 के लिए Global action plan on physical activity 2018–2030: more active people for a healthier world एक एक्शन प्लान तैयार किया है और योग उसका एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। योग के इस प्रमोशन से दुनिया में मोटापा, मानसिक अवसाद तथा अन्य बीमारियां जोकि शारीरिक जड़त्व की वजह से होती है, को खत्म किया जा सकता है। खासकर कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए बहुत सारे देशों में संपूर्ण लॉकडाउन घोषित किया गया है जिसकी वजह से दुनिया की आधी से ज्यादा आबादीअपने घरों में बंद है। संयुक्त राष्ट्र संघ ने विशेष योगासनों की घरों में बंद बच्चोंं के लिए सिफारिश की है, जिससे उन बच्चों का मानसिक स्वास्थ्य ठीक रखा जा सके।

योग करने के लाभ (Benefits of Yoga)

अलग-अलग प्रकार की वैज्ञानिक शोधों में यह साबित हो चुका है की योग करने से शरीर को बहुत फायदे होते हैं। उनमें से कुछ का विवरण यहां किया जा रहा है:

  • दिमाग की कार्य करने की क्षमता में सुधार
  • डिप्रेशन और चिंता को खत्म करना
  • शरीर में लचीलापन लाना
  • कमर दर्द और अन्य जोड़ों के दर्द में कमी
  • जानलेवा बीमारियों जैसे कैंसर आदि में जिंदगी को आसान बनाना
  • उच्च रक्तचाप तथा डायबिटीज को कंट्रोल करने में सहायता करना

इन सब फायदों के बारे में विस्तृत शोध को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

योग दिवस के रिकॉर्ड Yoga Day Records

इस दिन ही एक साथ 84 देशों के प्रतिनिधियों के साथ योग करने का भी विश्व रिकॉर्ड बना था।

सबसे ज्यादा लोगों द्वारा एक साथ योग करना। यह रिकॉर्ड भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 21 जून 2015 में बनाया था; जब उन्होंने दिल्ली के राजपथ पर 35000 लोगों के साथ योग किया था।

साल 2018 में बाबा रामदेव ने 2.5 लाख लोगों के साथ योग करके नया विश्व रिकॉर्ड बनाया था।

साल 2018 में भारत – तिब्बत पुलिस जवानों ने 18000 फिट की ऊंचाई पर सूर्य नमस्कार करके विश्व रिकॉर्ड बनाया था।

योग दिवस के उधृत Quotes of Yoga Day

योग खुद के लिए, खुद में से ही और खुद के द्वारा की गई है एक यात्रा है।

भगवत गीता

योग एक ऐसा प्रकाश है जो एक बार फैलने के बाद कभी कम नहीं होता तथा जितना ज्यादा हम अभ्यास करते हैं; यह उतना ही फैलता है।

स्वामी येनगार, विश्व प्रशिद्ध योग गुरु

ध्यान मूर्खों को भी विद्वान बना सकता है लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण मूर्ख कभी ध्यान नहीं करते।

स्वामी विवेकानंद, हठयोग के संस्थापक

योग का परम उद्देश्य चीजों को हमेशा सही तरीके से देखना तथा ऐसे फैसले करना है जिन पर हमें बाद में पछताना ना पड़े।

TKV देशिकचार – प्रशिद्ध योग गुरु

मन को एकाग्र चित्त करने की पूरी प्रक्रिया इस एक शब्द योग में ही समझाई गई है।

स्वामी विवेकानंद

योग दिवस मनाने का उद्देश्य क्या है?

विश्व योग दिवस के द्वारा संयुक्त राष्ट्र संघ का मुख्य उद्देश्य दुनिया से बीमारियों को कम करना तथा विश्व स्वास्थ्य को सुधारना है। योग से ही हम सामाजिक, मानसिक तथा शारीरिक तरक्की एक साथ कर सकते हैं। जब हमारा मन शांत तथा एकाग्र चित्त होता है तो हम असीम शांति तथा प्यार का अनुभव करते हैं जिससे कि हमारी बुरे कर्मों में फंसने की संभावनाएं बहुत कम हो जाती हैं। इसलिए सबका यह है परम कर्तव्य है कि योग को ना सिर्फ अपनी हर रोज की दिनचर्या में शामिल करें अपितु सामर्थ्य अनुसार लोगों को इसके बारे में जागरूक भी करें, तब जाकर ही दुनिया में हमारा लक्ष्य “शांति और भाईचारा” प्राप्त हो सकेगा।

योग दिवस 2021 कैसे मनाएं

चूंकि इस वर्ष के लिए योग दिवस महामारी के बीच मनाया जाएगा, इसलिए आपके लिए घर के अंदर और आभासी (Virtual) कार्यक्रमों में भाग लेकर योग दिवस मनाने की सलाह दी जाती है। यहां कुछ आकर्षक और दिलचस्प तरीके दिए गए हैं जिनसे आप अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2021 मना सकते हैं:

  • आप ज़ूम लिंक या यूट्यूब के माध्यम से ह्यूस्टन में भारत के वाणिज्य दूतावास द्वारा आयोजित संगीत और ध्यान कार्यक्रम में भाग ले सकते हैं। आप यहां से सीधे लिंक एक्सेस कर सकते हैं-https://www.eventbrite.com/e/international-yoga-day-2021-tickets-1577
  • आप अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के लाइव कार्यक्रम में भाग लेकर स्वयं को व्यस्त रख सकते हैं और योग करने के लिए बाहर जा सकते हैं। डाउनटाउन समरलिन इवेंट में भाग लेने के लिए, आप इस लिंक पर क्लिक कर सकते हैं: https://www.eventbrite.com/e/international-day-of-yoga-tickets-157709935663

International Yoga Day 2021 Event कैसे देख सकते हैं

2021 का अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम 21 जून, 2021 को संयुक्त राष्ट्र वेब टीवी और भारत के स्थायी मिशन के सोशल मीडिया पेजों पर 0830 बजे (ईडीटी) से लाइव वेबकास्ट किया जाएगा। योग दिवस समारोह को भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद और न्यूयॉर्क में भारतीय स्टेट बैंक द्वारा समर्थित किया जाता है।

Comments

  1. I am actually pleased to read this web site posts which consists of plenty of helpful information, thanks for providing these kinds of data.

  2. hello there and thank you for your information – I
    have definitely picked up something new from right here. I did however expertise
    some technical points using this web site, since I experienced to reload the web site many times previous to I
    could get it to load correctly. I had been wondering if
    your hosting is OK? Not that I am complaining, but slow loading instances times will often affect your placement
    in google and could damage your quality score if ads and
    marketing with Adwords. Well I’m adding this RSS to my e-mail and could look out for a lot
    more of your respective fascinating content. Ensure that you update this again soon.

Leave a Reply

Your email address will not be published.