World Environment Day

विश्व पर्यावरण दिवस या World Environment Day हर साल 5 जून को मनाया जाता है।

नामविश्व पर्यावरण दिवस World Environment Day
कबहर साल 5 जून को
शुरुआत5 जून 1974 को
किसने शुरू कियासंयुक्त राष्ट्र संघ ने
किसके द्वारा मनाया जाता हैपूरी दुनिया मे लगभग 143 देशों द्वारा
किसलिए मनाया जाता हैपर्यावरण की सुरक्षा और सुधार के लिए

World Environment Day क्या है?

यह दिन पर्यावरण सुरक्षा औऱ सुधार के बारे में लोगों के बीच जागरूकता फैलाने के लिए मनाया जाता है।

विश्व पर्यावरण दिवस सार्वजनिक पहुंच के लिए एक वैश्विक मंच है, जिसमें सालाना 143 से अधिक देशों की भागीदारी होती है। हर साल, यह दिन व्यवसायों, गैर सरकारी संगठनों, समुदायों, सरकारों और मशहूर हस्तियों को पर्यावरणीय कारणों की वकालत करने के लिए एक मंच प्रदान करता है।

World Environment Day का इतिहास

इस दिन की शुरुआत सयुंक्त राष्ट्र संघ ने 1972 में Stockholm Conference on the Human Environment से की थी। 5 जून 1974 को Only One Earth थीम के साथ पहला विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया था। 

सन 1987 से हर साल इस दिन की गतिविधियों को किसी एक देश में केंद्र में रखने की शुरुआत हुई थी।

World Environment Day की थीम औऱ मेजबान शहर

सबसे पहला विश्व पर्यावरण दिवस 1974 में अमेरिका के स्पोकेन शहर में Only One Earth थीम के साथ मनाया गया था। World Environment Day 2021 पाकिस्तान को केंद्रित करके Environment Restoration थीम के साथ मनाया जायेगा।

सालथीमशहर
1974Only One Earthस्पोकेन, अमेरिका
1975Human Settlementsढाका, बांग्लादेश
1976Water: Vital Resource for Lifeओंटारियो, कनाडा
1977Ozone Layer Environmental Concern; Lands Loss and Soil Degradationसेलहेत, बांग्लादेश
1978Development Without Destructionसेलहेत, बांग्लादेश
1979Only One Future for Our Children – Development Without Destructionसेलहेत, बांग्लादेश
1980A New Challenge for the New Decade: Development Without Destructionसेलहेत, बांग्लादेश
1981Ground Water; Toxic Chemicals in Human Food Chainsसेलहेत, बांग्लादेश
1982Ten Years After Stockholm (Renewal of Environmental Concerns)सेलहेत, बांग्लादेश
1983Managing and Disposing Hazardous Waste: Acid Rain and Energyसेलहेत, बांग्लादेश
1984Desertificationराजशाही, बांग्लादेश
1985Youth: Population and the Environmentइस्लामाबाद, पाकिस्तान
1986A Tree for Peaceओंटारियो, कनाडा
1987Environment and Shelter: More Than A Roofनैरोबी, केन्या
1988When People Put the Environment First, Development Will Lastबैंगकॉक, थाईलैंड
1989Global Warningब्रेसलस, बेल्जियम
1990Children and the Environmentमेक्सिको शहर, मेक्सिको
1991Climate Change. Need for Global Partnershipस्टॉकहोम, स्वीडन
1992Only One Earth, Care and Shareरियो डे जेनेरियो, ब्राजील
1993Poverty and the Environment – Breaking the Vicious Circleबीजिंग, चीन
1994One Earth One Familyलन्दन, यूनाइटेड किंगडम
1995We the Peoples: United for the Global Environmentप्रीटोरिया, दक्षिण अफ्रीका
1996Our Earth, Our Habitat, Our Homeइस्ताम्बुल, टर्की
1997For Life on Earthसिओल, दक्षिण कोरिया
1998For Life on Earth – Save Our Seasमॉस्को, रूस
1999Our Earth – Our Future – Just Save It!टोक्यो, जापान
2000The Environment Millennium – Time to Actएडिलेड, ऑस्ट्रेलिया
2001Connect with the World Wide Web of Lifeटोरिनो, इटली और हवाना, क्यूबा
2002Give Earth a Chanceशेन्ज़ेन, चीन
2003Water – Two Billion People are Dying for It!बेरूत, लेबनान
2004Wanted! Seas and Oceans – Dead or Alive?बार्सिलोना, स्पेन
2005Green Cities – Plan for the Planet!सान फ्रांसिस्को, अमेरिका
2006Deserts and Desertification – Don’t Desert Drylands!अल्जियर्स, अल्जीरिया
2007Melting Ice – a Hot Topic?लन्दन, इंग्लैंड
2008Kick The Habit – Towards A Low Carbon Economyवेलिंगटन, न्यूजिलैंड
2009Your Planet Needs You – Unite to Combat Climate Changeमेक्सिको शहर, मेक्सिको
2010Many Species. One Planet. One Futureरंगपुर, बांग्लादेश
2011Forests: Nature at your Serviceदिल्ली, भारत
2012Green Economy: Does it include you?ब्रासीलिया, ब्राजील
2013Think.Eat.Save. Reduce Your Foodprintउलंबतार, मंगोलिया
2014Raise your voice, not the sea levelब्रिजटाउन, बारबाडोस
2015Seven Billion Dreams. One Planet. Consume with Care.रोम, इटली
2016Zero Tolerance for the Illegal Wildlife tradeलुआंडा, अंगोला
2017Connecting People to Nature – in the city and on the land, from the poles to the equatorओटावा, कनाडा
2018Beat Plastic Pollutionनई दिल्ली, भारत
2019Beat Air Pollutionचीन
2020Time for Natureकोलम्बिया
2021Ecosystem restorationपाकिस्तान

World Environment Day 2021 के सूत्र

Advertisement

पर्यावरण सुरक्षा क्यों जरूरी है?

लम्बे समय से हम अपने वातावरण को खराब कर रहे हैं और हर तीन सैकंड में हम एक फुटबॉल के मैदान जितना वन क्षेत्र खो रहे हैं।

आखरी शताब्दी में हमने लगभग 50% स्वच्छ पानी के स्रोतों को खेती औऱ शहर बनाने के लिए खो दिया है।

वैश्विक ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन लगातार तीन वर्षों से बढ़ा है और हमारा ग्रह संभावित विनाशकारी जलवायु परिवर्तन के लिए एक आदर्श जगह है।

COVID-19 के उद्भव ने यह भी दिखाया है कि पारिस्थितिकी तंत्र के नुकसान के परिणाम कितने विनाशकारी हो सकते हैं। जानवरों के लिए प्राकृतिक आवास के क्षेत्र को कम करके, हमने रोगजनकों (Pathogens) के लिए आदर्श परिस्थितियों का निर्माण किया है।

इस बड़ी और चुनौतीपूर्ण तस्वीर के साथ, विश्व पर्यावरण दिवस पारिस्थितिकी तंत्र की बहाली (Ecosystem Restoration) पर केंद्रित है और इसकी थीम Reimagine. Recreate. Restore. है।

Ecosystem Restoration की बहाली बड़े पैमाने पर एक वैश्विक उपक्रम है।  इसका अर्थ है अरबों हेक्टेयर भूमि की मरम्मत करना – चीन या संयुक्त राज्य अमेरिका से बड़ा क्षेत्र – ताकि लोगों को भोजन, स्वच्छ पानी और नौकरियों तक पहुंच प्राप्त हो।

World Environment Day कैसे मनाया जाता है?

इस दिन का मुख्य लक्ष्य हर इंसान को पर्यावरण सुरक्षा और सुधार के लिए सतर्क करना है। इसलिए ऐसे काम जो इन दोनों लक्ष्यों को पूरा करते हों, किये जाते हैं। जैसे पेड़ लगाना, पोस्टर लगाना, स्लोगन बनाना, अपनी गली मोहल्ले में मौखिक प्रचार करना, सोशल साइट्स के द्वारा compaign चलाना, स्कूल/कॉलेजों में विद्यार्थियों को जागरूक करना शामिल हैं। लगभग सारी सरकारी, गैर सरकारी संस्थाएं इस दिन को जिम्मेदारी और उत्साह के साथ मनाती हैं।

व्यक्तिगत तौर पर भी हम ये सब काम करके World Environment Day मना सकते हैं।

World Environment Day का गीत

यह गीत भारत के अभय कुमार द्वारा रचित किया था। जून 2013 में विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर भारत के मंत्रियों कपिल सिब्बल औऱ शशि थरूर द्वारा इसे प्रायोजित किया गया और इस गीत को वैश्विक संस्था Habitat For Humanity द्वारा भी स्वीकृति किया गया है। यह गीत इस प्रकार है:

Our cosmic oasis, cosmic blue pearl the most beautiful planet in the universe
all the continents and all the oceans united we stand as flora and fauna united we stand as species of one earth
different cultures, beliefs and ways we are humans, the earth is our home
all the people and the nations of the world
all for one and one for all united we unfurl the blue marble flag.

जो आपको जानना जरूरी है?

हर साल 47 लाख हेक्टेयर भूमि जितना वन्य क्षेत्र जो डेनमार्क देश से बड़ा है, हम खो देते हैं।

लगभग 80% पानी समुद्रों में बिना किसी treatment के प्रवाहित कर दिया जाता है।

जाने Wetlands के बारे में

World environment day पर उत्साहित करने के लिए महान लोगों के विचार

शताब्दियों से इंसान जिंदा रहने के लिए, प्रकृति से लड़ता आया है। लेकिन आखिरी शताब्दी में उसे महसूस हुआ है कि जिंदा रहने के लिए प्रकृति से लड़ना नहीं बल्कि उसे बचाना है।

Jacques-Yves Cousteau, French Explorer

हमारे ग्रह के लिए सबसे बड़ा खतरा यह धारना है कि उसे कोई और बचायेगा।

Robert Swan, Author

ईमानदारी औऱ जिम्मेदारी के बिना पृथ्वी हमेशा जीवनदायिनी फसलें पैदा नहीं करेगी। हमें इसको अपनी जमीन कहने के साथ आने वाली पीढ़ियों के लिए भी सुरक्षित करना होगा।

John Paul II, Head of Catholic Church

जो देश खुद की मिट्टी को प्रदूषित करता है, वह खुद का विनाश करता है।

Franklin D Roosevelt, 32nd US President

World environment day poster and slogans

Comments

  1. Hey There. I discovered your blog the usage of msn. This is an extremely well written article.
    I will make sure to bookmark it and come back to learn more of your helpful
    info. Thank you for the post. I will definitely return.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *