राष्ट्रीय आयुध कारखाना दिवस National Ordnance Factory Day

National Ordnance Factory Day या राष्ट्रीय आयुध कारखाना दिवस हर साल18 मार्च को भारत की पहली आयुध फैक्टरी के स्थापना दिवस के रूप में मनाया जाता है।

नामराष्ट्रीय आयुध कारखाना दिवस Ordnance Factory Day
कबहर साल 18 मार्च को
शुरुआत18 मार्च 1802 में
किसके द्वाराराष्ट्रीय आयुद्ध कारखाना बोर्ड OFB द्वारा
क्योंभारत की पहली आयुद्ध फैक्ट्री स्थापना दिवस के रूप में

ऑर्डनेंस फैक्ट्री डे कैसे मनाया जाता है?

आयुध कारखाने दिवस भारत में पहले आयुध कारखाने की शुरुआत को याद करने के लिए मनाया जाता है। इस उत्सव को प्रत्येक कारखाने में महाप्रबंधक द्वारा झंडा लगाकर शुरू किया जाता है और अपने देश की सेवा के लिए आयुध कारखाने के सभी कर्मचारी और अधिकारी प्रतिज्ञा लेते है।

अधिकारी अपने निगमों द्वारा निर्धारित लक्ष्य के अनुसार अपने कारखानों के बेहतर होने के लिए अपनी सेवाओं को समर्पित करने के लिए अपने संबंधित कारखानों के कर्मचारियों को सम्मानित करते हैं।यह कार्यक्रम देश के सभी आयुध कारखानों में उत्पादकता, गुणवत्ता और अन्य विषयों पर सम्मेलनों और सेमिनार जैसे कार्यक्रमों का आयोजन करके मनाया जाता है।

Advertisement

यह दिन कर्मचारियों के बीच एकता और भाईचारे की भावना को बढ़ावा देता है। वे दिल से महसूस करते हैं कि वे बड़े परिवार के सदस्य हैं। आयुध कारखानें जो देश के अलग-अलग दूर-दराज क्षेत्रों में स्थित हैं कल्याणकारी गतिविधियों को भी व्यवस्थित करते हैं। वे अपने कर्मचारियों को स्कूली शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल और आवास प्रदान करते हैं। महिला कल्याण संघ ने आयुध कारखानों के कर्मचारियों के परिवारों और कारखानों की सम्पदा में पर्यावरण की वृद्धि के लिए बेहद योगदान दिया है।

National Ordnance Board क्या है?

OFB वह बोर्ड है जो भारतीय आयुद्ध कारखानों को नियंत्रित करता है। यह बोर्ड भारतीय सरकार के रक्षा मंत्रालय के अधीन है। यह बोर्ड वायु सेना, थल सेना और जल सेना के लिए हथियारों की टैस्टिंग, उत्पादन, अनुसंधान के काम करता है। OFB के अधीन 41 कारखाने, 9 ट्रैनिंग सेंटर, 3 क्षेत्रीय मार्केटिंग कार्यालय और 4 सेफ्टी के सेंटर हैं, जो पूरे भारत मे फैले हुए हैं।

OFB को भारत की 4th Line Of Defence भी कहा जाता है, क्योंकि यही बोर्ड भारत की तीनों सेनाओं के लिए युद्ध सामग्री मुहैया कराता है।

National Ordnance Board सरकार द्वारा चलाई जाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी तथा भारत की सबसे पुरानी संस्था है। OFB उत्पादन के मामले में दुनिया मे 35वें, एशिया में दूसरे ओर भारत मे पहले स्थान पर है। 2017-18 में OFB का कुल उत्पादन 13,687 करोड़ रुपए था।

OFB हेडक्वार्टर

आयुद्ध बोर्ड ऑफिस, कलकत्ता

  • Ordnance Factory Board, Kolkata
  • Armoured Vehicles Headquarters, Chennai
  • Ordnance Equipment Factories Headquarters, Kanpur
  • Ordnance Factory Board, New Delhi Office
  • Ordnance Factory Cell, Mumbai
  • Ordnance Factories Recruitment Centre, Nagpur

लिस्ट ऑफ़ ऑर्डनेन्स फैक्ट्री इन इंडिया List of Ordnance Factory in India

1Ammunition Factory Khadki (AFK)पुणे, महाराष्ट्र
2Cordite Factory (CFA)अरुवंकडु, तमिलनाडु
3Engine Factory Avadi (EFA)चेन्नई, तमिलनाडु
4Field Gun Factory, Kanpur (FGK)कानपुर, उत्तर प्रदेश
5Gun Carriage Factory Jabalpur (GCF)जबलपुर, मध्यप्रदेश
6Grey Iron Foundry (GIF)जबलपुर, मध्यप्रदेश
7Gun and Shell Factory (GSF)कलकत्ता, पश्चिम बंगाल
8Heavy Alloy Penetrator Project (HAPP)तिरुचिरापल्ली, तमिलनाडु
9High Explosives Factory (HEF)पुणे, महाराष्ट्र
10Heavy Vehicles Factory (HVF)चेन्नई, तमिलनाडु
11Machine Tool Prototype Factory Ambernath (MPF)मुंबई, महाराष्ट्र
12Metal and Steel Factory (MSF)कलकत्ता, पश्चिम बंगाल
13Ordnance Clothing Factory (OCF)चेन्नई, तमिलनाडु
14Ordnance Factory Chandigarh (OCFC)चंडीगढ़
15Ordnance Clothing Factory (OCF)शाहजहापुर, उत्तर प्रदेश
16Ordnance Equipment Factory Kanpur (OEFC)कानपुर, उत्तर प्रदेश
17Ordnance Equipment Factory Hazratpur (OEFHZ)हज़रतपुर, उत्तरप्रदेश
18Ordnance Factory Ambernath (OFA)मुम्बई, महाराष्ट्र
19Ordnance Factory Ambajhari (OFAJ)नागपुर, महाराष्ट्र
20Ordnance Factory Bhandara (OFBA)बांद्रा, महाराष्ट्र
21Ordnance Factory Bhusawal (OFBH)भुसावल, महाराष्ट्र
22Ordnance Factory Bolangir (OFBOL)बोलांगीर, उड़ीसा
23Ordnance Factory Kanpur (OFC)कानपुर, उत्तर प्रदेश
24Ordnance Factory Chandrapur (OFCH)चंद्रपुर, महाराष्ट्र
25Ordnance Factory Dumdum (OFDC)कलकत्ता, पश्चिम बंगाल
26Ordnance Factory Dehu Road (OFDRपुणे, महाराष्ट्र
27Ordnance Factory Dehradun (OFDUN)देहरादून, उत्तराखंड
28Ordnance Factory Itarsi (OFI)इटारसी, मध्यप्रदेश
29Ordnance Factory Khamaria (OFK)जबलपुर, मध्यप्रदेश
30Ordnance Factory Katni (OFKAT)काटनी, मध्यप्रदेश
31Ordnance Factory Muradnagar (OFM)मुरादनगर, उत्तर प्रदेश
32Ordnance Factory Project (OFN)नालंदा, बिहार
33Ordnance Factory Project Korwa (OFPKR)कोरवा, उत्तर प्रदेश
34Ordnance Factory Project Medak (OFPM)हैदराबाद, तेलंगाना
35Ordnance Factory Tiruchirappalli (OFT)तिरुचिरापल्ली, तमिलनाडु
36Ordnance Factory Varangaon (OFV)वारनगाओं, महाराष्ट्र
37Opto Electronics Factory (OLF)देहरादून, उत्तराखंड
38Ordnance Parachute Factory (OPF)कानपुर, उत्तरप्रदेश
39Rifle Factory Ishapore (RFI)कलकत्ता, पश्चिम बंगाल
40Small Arms Factory (SAF)कानपुर, उत्तर प्रदेश
41Vehicle Factory Jabalpur (VFJ)जबलपुर, मध्यप्रदेश
How many Ordnance Factory in India : 41

आयुध प्रशिक्षण संस्थानों की सूची

  1. ऑर्डनेंस फैक्ट्रीज़ इंस्टिट्यूट ऑफ़ लर्निंग, अंबाघारी नागपुर
  2. नेशनल एकेडमी ऑफ़ डिफेंस प्रोडक्शन नागपुर
  3. ऑर्डनेंस फैक्ट्रीज़ इंस्टिट्यूट ऑफ़ लर्निंग अवडी, चेन्नई
  4. ऑर्डनेंस फैक्ट्रीज़ इंस्टिट्यूट ऑफ़ लर्निंग खमरिया, जबलपुर
  5. ऑर्डनेंस फैक्ट्रीज़ इंस्टिट्यूट ऑफ़ लर्निंग मेडक
  6. ऑर्डनेंस फैक्ट्रीज़ इंस्टिट्यूट ऑफ़ लर्निंग अम्बरनाथ, मुंबई
  7. ऑर्डनेंस फैक्ट्रीज़ इंस्टिट्यूट ऑफ़ लर्निंग देहरादून
  8. ऑर्डनेंस फैक्ट्रीज़ इंस्टिट्यूट ऑफ़ लर्निंग कानपुर
  9. ऑर्डनेंस फैक्ट्रीज़ इंस्टिट्यूट ऑफ़ लर्निंग इशापोर, कोलकाता

ऑर्डनेंस रीजनल मार्केटिंग सेंटर की सूची

  1. रीजनल मार्केटिंग सेंटर, दिल्ली
  2. रीजनल मार्केटिंग सेंटर अवडी, चेन्नई
  3. रीजनल मार्केटिंग सेंटर, पुणे

ऑर्डनेंस रीजनल कंट्रोलर ऑफ़ सेफ्टी की सूची

  1. रीजनल कंट्रोलर ऑफ़ सेफ्टी, कानपुर
  2. रीजनल कंट्रोलर ऑफ़ सेफ्टी अवडी, चेन्नई
  3. रीजनल कंट्रोलर ऑफ़ सेफ्टी, पुणे
  4. रीजनल कंट्रोलर ऑफ़ सेफ्टी अम्बाझरी, नागपुर

भारत के आयुद्ध कारखानों का इतिहास

  • 1712 – बारूद कारखाने की स्थापना, इच्छापुर
  • 1775 – आयुद्ध बोर्ड की स्थापना, फोर्ट विलियम, कलकत्ता
  • 1787 – बारूद कारखाना स्थापना, ईशापुर
  • 1801 – बन्दूक बनाने का कारखाना, कोशिपुर, कलकत्ता
  • 1802 – कोशिपुर कारखाने में 18 मार्च को उत्पादन प्रारंभ हुआ
  • 1935 – भारतीय आयुद्ध सेवा (IOS) की शुरुआत (यह भारतीय पुलिस सेवा (IPS) और भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) के समक्ष होती है)
  • 1954 – भारतीय आयुद्ध सेवा (IOS) का नाम बदलकर भारतीय आयुद्ध कारखाना सेवा (IOFS) कर दिया गया
  • 1979 – भारतीय आयुद्ध बोर्ड की स्थापना, 2 अप्रैल को

आयुद्ध कारखाना का बोर्ड कैसे काम करता है?

एपेक्स बोर्ड का नेतृत्व आयुध कारखानों के महानिदेशक द्वारा किया जाता है, जो बोर्ड के अध्यक्ष (भारत सरकार के पदेन सचिव) के रूप में कार्य करता है और इसमें नौ अन्य सदस्य होते हैं, जो प्रत्येक अतिरिक्त DGOF का पद रखते हैं। आयुध कारखानों को पांच ऑपरेटिंग डिवीजनों में विभाजित किया गया है, जो मुख्य उत्पादों / प्रौद्योगिकियों के प्रकार पर निर्भर करता है:

  1. गोला बारूद और विस्फोटक
  2. हथियार वाहन और उपकरण
  3. सामग्री और घटक
  4. बख्तरबंद वाहन
  5. कारखानों का आयुध उपकरण समूह

कारखानों के प्रत्येक उपरोक्त समूह का नेतृत्व एक सदस्य / अतिरिक्त DGOF करता है जो भारत सरकार के विशेष सचिव के पद पर होता है। शेष चार सदस्य स्टाफ फ़ंक्शंस, अर्थात कर्मियों, वित्त, योजना और सामग्री प्रबंधन और तकनीकी सेवाओं के लिए जिम्मेदार हैं, और वे कोलकाता से संचालित होते हैं।

Advertisement

Comments

  1. Hi! Do you know if they make any plugins to safeguard against hackers?
    I’m kinda paranoid about losing everything I’ve worked hard on. Any suggestions?

  2. Hello there, You have done an incredible job. I’ll definitely digg it and personally suggest to my friends.
    I’m sure they will be benefited from this site.

Leave a Reply

Your email address will not be published.