International Day of Human Space Flight मानव अंतरिक्ष उड़ान का अंतर्राष्ट्रीय दिवस

International Day of Human Space Flight हर साल मानव जाति के अंतरिक्ष उड़ान अभियान की शुरुआत को याद करने के लिए मनाया जाता है।

International Day of Human Space Flight क्या है?

यह दिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मानव जाति के अंतरिक्ष खोज अभियान की शुरुआत और इंसानों की पहली अंतरिक्ष उड़ान जिसमे यूरी गागरिन ने 108 मिनट तक अंतरिक्ष मे उड़ान भरी थी, को याद करने तथा लोगों के जीवन को बेहतर बनाने और सतत विकास के लक्ष्यों को हासिल करने में अंतरिक्ष विज्ञान के महत्वपूर्ण योगदान को याद करने के लिए मनाया जाता है। दुनिया मे शांतिपूर्ण माहौल बनाए रखने के लिए अंतरिक्ष विज्ञान का प्रयोग करना भी शामिल है।

Advertisement

International Day of Human Space Flight का इतिहास क्या है?

इस दिन की शुरुआत 7 अप्रैल 2011 को हुई संयुक्त राष्ट्र संघ की 65वीं जनरल असेम्बली को हुई थी। यूरी गागरिन की उड़ान को 50 साल पूरे दिन से कुछ दिन पहले ही International Day of Human Space Flight को मनाने का फैसला लिया गया था।

इंसानों की पहली अंतरिक्ष उड़ान क्या थी?

यूरी गागरिन नामक एक रसिया के वैज्ञानिक 1961 में Vostok 3KA अंतरिक्ष यान में सवार होकर 108 मिनट में धरती का एक चक्कर लगाया था।

International Day of Human Space Flight से मिलते जुलते दिन कोनसे हैं?

  • इस उड़ान की खुशी में सोवियत संघ (वर्तमान रूस) में 12 अप्रैल के दिन 1963 से Cosmonautics Day के रूप में मनाया जाता है। यह दिन आज तक भी सोवियत संघ के पूर्व सदस्य देशों (15 देश) में मनाया जाता है।
  • अमेरीका में Yuri Night जिसको विश्व अंतरिक्ष पार्टी भी कहते हैं कि शुरुआत 2001 में हुई थी।
  • कोलम्बिया ने भी 12 अप्रैल 1981 के दिन ही अपनी पहली अंतरिक्ष शटल का प्रक्षेपण किया था।

International Day of Human Space Flight क्यों मनाया जाता है?

इन दिन को मानव जाति की अंतरिक्ष दौड़ की शुरुआत के दिन के रूप में मनाया जाता है, जिसने हमारे लिए नई सम्भावनाओं के रास्ते खोल दिये। संयुक्त राष्ट्र महासभा ने शांतिपूर्ण उद्देश्यों और प्राप्त लाभ को पूरी दुनिया मे पहुंच को बढ़ावा देने के उद्देश्य से इस दिन को अंतरराष्ट्रीय दिवस के रूप में मनाने की सिफारिश की थी।

मानव अंतरिक्ष उड़ान के कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

  • 1 अक्टूबर 1957 को स्पूतनिक नामक पहला मानव निर्मित उपग्रह पृथ्वी की कक्षा में स्थापित किया गया था।
  • 12 अप्रैल 1961 को यूरी गागरिन नामक किसी इंसान ने पहली बार अंतरिक्ष उड़ान भरी थी।
  • 16 जून 1963 को Valentina Tereshkova नामक किसी महिला ने पहली बार अंतरिक्ष उड़ान भरी थी।
  • 20 जुलाई 1969 को निल आर्मस्ट्रॉन्ग ने पहली बार चांद पर कदम रखा था।
  • 1977 में वॉयजर नामक अंतरिक्ष यान को को छोड़ा गया था, जिसमें मानव जाति के सन्देश रिकॉर्ड करके भेजे गए हैं, ताकि कोई दूसरी दुनिया के प्राणी उनको सुनें तो वह हमें जवाब दे सकें।
  • उसके बाद मंगल ग्रह से लेकर हर ग्रह पर अमेरिका अपने अंतरिक्ष यान भेज चुका है।
Reply tweet of Space X CEO Elon Musk, when asked about whether he has plan to colonize Mars with million people before 2050.
  • Space X के मालिक एलन मस्क और अमेज़न के मालिक जेफ बेज़ोस 2030 तक मंगल ग्रह पर इंसानी बस्ती बसाने की बात कर चुके हैं।
  • भारत ने भी अंतरिक्ष विज्ञान में बहुत तरक्की की है, 1975 में आर्यभट्ट नामक उपग्रह छोड़ने के बाद भारत 2015 में अपने पहले ही प्रयास में मंगल ग्रह की कक्षा में पहुंचने वाला पहला देश बना था।
  • इसी कड़ी दुनिया के अलग अलग देश मौसम का पूर्वानुमान, रक्षा, मानचित्र, निगरानी, इंटनेट, टेलीविजन आदि सुविधाओं के लिए अंतरिक्ष का उपयोग करते हैं।

Advertisement

शांतिपूर्ण अंतरिक्ष अभियान के लिए सयुंक्त राष्ट्र संघ के प्रयास

पूरी दुनिया मे शांतिपूर्ण ढंग से अंतरिक्ष खोज को बढ़ाव देने के लिए संयुक्त राष्ट्र संघ ने दुनिया के देशों के साथ मिलकर अलग अलग सिंधिया और संस्थाएँ बनाई हैं। जिनमें से कुछ महत्वपूर्ण सन्धियों का विवरण यहाँ किया गया है:

United Nations Office for Outer Space Affairs (UNOOSA)

इस ऑफिस का काम दुनिया के देशों के बीच शांतिपूर्ण ढंग से अंतरिक्ष खोज को बढ़ावा देना है। UNOOSA संयुक्त राष्ट्र की कमेटी (COPUOS) के लिए सक्रेटरी का काम करता है, जो दुनियाभर में अंतरिक्ष खोज को शांतिपूर्ण बनाये रखने के लिए जिम्मेदार है। UNOOSA ही अंतराष्ट्रीय अंतरिक्ष कानून के अंतर्गत अंतरिक्ष मे छोड़े गए उपग्रहों या ऐसी ही अन्य चीजों का ब्यौरा रखता है।

United Nations Committee on the Peaceful Uses of Outer Space (COPUOS)

संयुक्त राष्ट्र संघ की जनरल असेम्बली ने COPUOS की स्थापना 1959 में दुनिया मे अंतरिक्ष खोज अभियान को शांतिपूर्ण और पूरी दुनिया के लिए फायदेमंद बनाने के लिए की थी। COPUOS के अंतर्गत दो और कमेटी काम करती हैं, जिनकी स्थापना 1961 में कई गयी थी।

  1. Scientific and Technical Subcommittee
  2. Legal Subcommittee

ये सब संस्थाएँ मिलकर Fourth Committee of the General Assembly को रिपोर्ट करती हैं जो हर साल अंतरिक्ष के शांतिपूर्ण प्रयोग के लिए नियम और कानून बनाती है।

Comments

  1. Wonderful beat ! I wish to apprentice whilst you amend your website, how could i subscribe
    for a blog site? The account aided me a appropriate deal.
    I were tiny bit acquainted of this your broadcast provided shiny transparent concept

  2. Excellent site you have got here.. It’s hard to find excellent writing like yours these days.

    I seriously appreciate people like you! Take care!!

  3. Thanks for your personal marvelous posting! I genuinely enjoyed reading it, you may be a great author.

    I will make sure to bookmark your blog and may come back in the future.
    I want to encourage yourself to continue your great work, have a nice afternoon!

  4. Usually I don’t learn post on blogs, however I would like to say that this write-up very compelled me to try and
    do so! Your writing style has been surprised me. Thanks, very great article.

Leave a Reply

Your email address will not be published.